Money laundering in Hindi: क्रिमिनल आर्गेनाइजेशन के लिए क्या क्रिप्टो करेंसी का उपयोग कानूनन वैध है या अवैध? अवैध रूप से प्राप्त धन का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए मनी लॉन्ड्रिंग आवश्यक है। मनी लॉन्ड्रिंग प्रक्रिया में आमतौर पर तीन चरण होते हैं, प्लेसमेंट, लेयरिंग और इंटीग्रेशन।

क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग क्या है? - Cryptocurrency Mining in Hindi

भारत में सबसे अच्छी बेटिंग साइट

रजिस्टर करें और 7 बीटीसी तक एक स्वागत बोनस प्राप्त करें!

8,700 रुपए तक के पहले जमा पर वेलकम बोनस

रजिस्टर करें और 30% तक कैसीनो कैशबैक प्राप्त करें + 500% का साइन-अप बोनस 200,000 रुपए तक

डुअल स्पोर्ट्सबुक, 24,000 रुपए बोनस + साप्ताहिक एक्सचेंज ऑफर और प्रतिदिन अनलिमिटेड कैशबैक

अपनी पहली जमा राशि पर 130% बोनस पाएं - "SPORTSADDA" प्रोमोकोड का इस्तेमाल करें

बेट क्रेडिट्स में 4,000 रुपए तक का वेलकम बोनस

10,000 रुपए तक 100% वेलकम बोनस*

आपकी पहली जमा राशि पर 100% बोनस

सट्टेबाजी की दुनिया के बारे में आंकड़े, टिप्स, विश्लेषण और वह सबकुछ जो आपको पता होना चाहिए, हमारे SportsAdda प्लेटफॉर्म पर आपके लिए ये सारी जानकारी उपलब्ध है। यह कोई साधारण जगह नहीं है; हमने आपके खेलने और जीतने के अनुभव को बेहतर और मनोरंजक बनाने का प्रयास क्या क्रिप्टो करेंसी का उपयोग कानूनन वैध है या अवैध? किया है। इसका सच यहां है:

Money laundering Kya Hai? | मनी लॉन्ड्रिंग क्या है और कैसे किया जाता है? | Money laundering in Hindi

Money laundering in Hindi: मनी लॉन्ड्रिंग अवैध रूप से प्राप्त धनराशि को छुपाने का एक तरीका है। जो अवैध धन को वैध धन में बदलने का काम करता है। आइए इस लेख में और विस्तार से जानते है कि Money laundering Kya Hai? (What is Money Laundering in Hindi) और मनी लॉन्ड्रिंग कैसे काम करता है? (How does money laundering work?)

Money laundering in Hindi: आपने अक्सर टेलीविजन, अखबारों या किसी अन्य माध्यम से मनी लॉन्ड्रिंग की खबरें जरूर सुनी होंगी। लेकिन क्या आपको पता है Money laundering Kya Hai? (What is Money laundering in Hindi) अगर नहीं पता है तो इस पोस्ट को पढ़कर आप मनी लॉन्ड्रिंग के विषय में सब कुछ जान जाएंगे। हम यहां आपको बताने वाले है कि मनी लॉन्ड्रिंग क्या है? और मनी लॉन्ड्रिंग कैसे काम करता है? (How does money laundering work?) तो आइए जानते है Money laundering in Hindi

माइनिंग के तरीके

1. Solo Mining

Solo mining का मतलब अकेले ही अपने सिस्टम को काम पे लगाना। एक तरह से solo mining को hard माना जाता है। क्योंकि अकेले माइनिंग में कई सारे powerful कम्प्यूटर्स या माइनिंग मशीन की ज़रुरत पड़ती है, जो की काफी मँहगें और काफी बिजली खाने वाले होते है। और अगर आप इनकी व्यवस्था कर भी लेते हो, तो profit कमाना भी luck पर रहता है।

2. Pool क्या क्रिप्टो करेंसी का उपयोग कानूनन वैध है या अवैध? Mining

Pool माइनिंग यानी की कई सारे miners एक साथ ग्रुप बना के माइनिंग करते है। जिसका plus point ये रहता है की सभी के कम्प्यूटर्स पे आने वाला भार आपस में बट जाता है। और काम आसानी से भी हो जाता हैं। जिससे ज्यादा मँहगे Systems की ज़रुरत नहीं रहती। रही बात profit की तो अगर group में से किसी एक को भी reward मिलता है तो वो पूरे ग्रुप में बाँटा जाता है। जिससे कम खर्च में ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता है। पर कोशिश आपकी यही होनी चाहिए कि आप एक से ज्यादा मशीन लगायें। जिससे प्रोफिट बढ़ने का चांस बढ़ जाता है।

क्रिप्टोकर्रेंसी माइनिंग कैसे करे?

अगर आपको माइनिंग करनी है, तो सबसे पहले आपको mining में use होने वाले ASIC क्रिप्टोकर्रेंसी माइनिंग मशीन का लेना बहुत जरूरी है। फ़िलहाल माइनिंग में उपयोग होने वाले सबसे प्रसिद्ध ASIC मशीन का नाम (BITMAIN ANTMINER S5) है। हालांकि इसके बजाय आप कई सारे ग्राफिक्स कार्ड वाले कम्प्यूटर्स का भी इस्तेमाल कर सकते है। पर इन्हे माइनिंग के लिए नहीं बनाया जाता है। इसी वजह से ये माइनिंग की रफ़्तार को धीमा कर देते है। हालाँकि माइनिंग मशीन के दाम लगभग 30 हजार से लेकर लाखों तक होती है। इसी कारण से miners ने ग्राफिक्स कार्ड्स को ही आसान और सस्ता जुगाड़ बना दिया है। पर ग्राफिक्स कार्ड्स के इस तरह से मांग बढ़ने से वो भी महंगे हो गए है। जिससे लोगो में इन miners को लेकर नेगेटिव रुख ही रहता है।

दूसरी चीज इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस इलाके में रहते है और वहाँ की बिजली का क्या दाम है। क्योकि आप जब अपने सिस्टम को बिजली से जोड़ेंगे तो उसका बिल भी मोटा क्या क्रिप्टो करेंसी का उपयोग कानूनन वैध है या अवैध? आना तय है। क्योंकि माइनिंग लगातार घंटों तक होती है। जिससे इसका ख्याल भी रखना बहुत जरूरी है की आप किस इलाके में है और वहां की बिजली आपके प्रॉफिट को कम तो नहीं करेगी। ये चीजें आपके प्रॉफिट पर काफी असर डालती है। जितना कम बिल आएगा उतना ही प्रॉफिट आपके पास ही रहेगा।

INDIA में क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग

2021 के इस टेक वाली दुनिया में भी भारत के कई गाँवो व कई शहरों में सिर्फ 5 से 10 घंटे ही बिजली रहती है। क्योंकि देश की अर्थ व्यवस्था आजादी से लेकर आजतक कभी भी इतनी नहीं रही की विकास की गति को बाढाया जा सके। और सरकारों के घोटाला करने की आदत ने सिर्फ बिजली ही नहीं बल्की देश के सभी जरूरी मामलों में विकाश नहीं हो सकना इन्ही कारणों का नतीजा है।

यही कारण है की भारत सरकर ने बिटकॉइन में ट्रेड करने को तो वैध घोषित किया है। परन्तु इसकी माइनिंग के लिए अभी भी नियमों को बनाये जा रहा है। या फिर फिलहाल ये कहना ज्यादा ठीक रहेगा की, अभी तक कोई नियम बना ही नहीं है। पर पिछले कुछ सालों में भारत के miners को mining के लिए जेल को हवा खानी पड़ी है। इसलिए एक्सपर्ट्स की माने तो जबतक भारत सरकार माइनिंग या बिटकॉइन को लेकर कोई नियम नहीं बना देती है, तब तक भारत में माइनिंग करना सेफ नहीं है।

रेटिंग: 4.38
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 338